स्वस्थ रहने के लिये आवश्यक है उत्तम आचरण

मौत को जीतने के लिये सम्पूर्ण विश्व प्रयासशील है, पर जीवन कैसे जीना चाहिए यह ज्ञान आयुर्वेद में ही समाहित है। आयुर्वेद अपने देश की परिस्थितयों के अनुरूप रचित ज्ञान का भण्डार है। प्राचीन भारतीय ज्ञान के स्रोत न केवल शिक्षा पर अपितु उच्च नैतिक मूल्यों एवं उत्तम स्वास्थ्य प्राप्ति के साधनों पर भी आधारित Continue Reading

बिना संहिताओं के अध्ययन से आयुर्वेद का ज्ञान सम्भव नही

आयुर्वेद का अध्ययन संहिता परक है। अतः बिना संहिताओं के ज्ञान के आयुर्वेद का अध्ययन सम्भव नही है। सभी प्रमुख संहिताएं संस्कृत में है। बिना मूल ग्रन्थों के अध्ययन के विषयों को ठीक से समझा नही जा सकता। अतः आयुर्वेद के विषयों में दक्ष होने के लिये संस्कृत का ज्ञान होना आवश्यक है। न केवल Continue Reading

Knowledge of Ayurveda is not possible without studying the Samhitas

The study  Samhitas of Ayurveda is perfection. Therefore, the study of Ayurveda without  Samhitas is not possible. All major Samhitas are in Sanskrit. The topics of study of the original texts cannot be properly understood. Therefore, knowledge of Sanskrit is necessary for being proficient in Ayurvedic disciplines. It is essential that students of Ayurveda have Continue Reading

How To Stop Nose Bleeding |Frequent Nose Bleeds |Can Stress Cause Nose Bleeds ?

As the summer season starts, some people get annoyed by the complaint of hemorrhoid. Suddenly the bleeding begins with the nose. In the Charak Code, this disease has been described by the name of aphrodisiac. This disease has been accepted as a major disease and has said that this disease should be treated immediately. Frequent Continue Reading

नाक से खून बहना कैसे रोके | बार-बार नाक से खून बहना | तनाव के कारण नाक से खून आना|

गर्मियों का मौसम शुरू होते ही कुछ लोग नकसीर की शिकायत से परेशान हो जाते हैं। अचानक नाक से रक्तस्राव शुरू हो जाता है। चरक संहिता में, इस बीमारी को कामोद्दीपक के नाम से वर्णित किया गया है। इस बीमारी को एक बड़ी बीमारी के रूप में स्वीकार किया गया है और कहा गया है Continue Reading

सभी पितरों के श्राद्ध का पर्व है अमावस्या

भविष्य पुराण अनुसार सूर्य ने अग्नि को प्रतिपदा, ब्रह्मा को द्वितीय, कुबेर को तृतीय व गणेश को चतुर्थी तिथि प्रदान की है, नागराज को पंचमी, कार्तिकेय को षष्ठी, अपने कोे सप्तमी व रुद्र को अष्टमी तिथि दी है, दुर्गा को नवमी, अपनी संतान यम को दशमी ,विश्वदेव के गणों का एकादशी, विष्णु को द्वादशी, कामदेव Continue Reading

Shraddha of All the Ancestors is Amavasya Know As Their Festival

According to the future Purana, the sun has given Pragnapada, Brahma second, Kuber to third and Ganesh has given the Chaturthi date, Nagraj has given Panchami, Karthikeya to Satthi, your Kothi Saptami and Rudra to Ashtami, Durga is blessed with Navami, her children Yama has given the date of Dashami, Ekadashi of Lord Vishwdev, Vishnu Continue Reading

आयुर्वेद के इतिहास का अध्ययन क्यों करें

विश्व को परिणाम की उम्मीद है। श्रम पीड़ा के बारे में दूसरों को न बताएं। उन्हें बच्चा दिखाओ। लोग तैयार उत्पादों की उम्मीद करते हैं। उन्हें अतीत से कोई सरोकार नहीं है। स्टिलनी लाभ हमारे पास स्नातक के लिए आयुर्वेद पाठ्यक्रमों के पाठ्यक्रम में आयुर्वेद का एक विषय है। आयुर्वेद को आम आदमी के लिए Continue Reading